Shighra Ishwar Prapti (Kannad)

शीघ्र ईश्वरप्राप्ति
आयु प्रतिक्षण व्यतीत हो रही है, काल का भरोसा नहीं है इसलिए जिस महान कार्य ‘ईश्वरप्राप्ति’ के लिए हमें मनुष्य-शरीर मिला है, उसे शीघ्र कर लेना चाहिए । सहजता, सरलता एवं शीघ्रता से ईश्वरप्राप्तिरूपी मंजिल तक पहुँचने की यात्रा तय करने में पूज्य संत श्री आशारामजी बापू की अमृतवाणी से संकलित ‘शीघ्र ईश्वरप्राप्ति’ सत्साहित्य अति सहायक सिद्ध होगा । इसमें है :
* शीघ्र ईश्वरप्राप्ति कैसे हो ?
* अद्भुत सामर्थ्य प्रकट करने की युक्ति
* मुक्ति के अधिकारी कौन हैं ?
* संसार में किसका पुनर्जन्म नहीं होता ?
* पुनर्जन्म न हो इसके लिए हमें क्या उपाय करना चाहिए ?
* वाह रे मौज फकीरा दी…
* भगवद्भाव कैसे बढ़े ?
* ईश्वरप्राप्ति में सहायक है निष्कामता
* अनन्य भक्ति क्या है, कैसे करें अनन्य भाव से भक्ति ?
* बहुजनहिताय, बहुजनसुखाय… ऐसी हो सेवा-भावना
* एक बड़े सेठ लालाबाबू शीघ्र ईश्वरप्राप्ति की राह पर कैसे चल दिये ?
* योग से कैसे लायें अपने जीवन में आरोग्यता ?
* सुगठित शरीर, लम्बी आयु, अच्छी निर्णयशक्ति व तनावरहित जीवन में सहायक : ऊर्जायी प्राणायाम
* पाचन-प्रणाली को अत्यधिक सक्रिय रखने के लिए प्रयोग : अग्निसार क्रिया
* मानसिक अवसाद कम करने व एकाग्रता बढ़ाने में मददगार : ब्रह्ममुद्रा
* घुटनों के जोड़ों के दर्द के लिए व्यायाम
* गुरुकृपा से ही होती जन्म-मरण के चक्कर से मुक्ति

Shīghra Ishwara Prāpti
Our lifespan is shortened every moment and death can strike at any time. Hence, our first and foremost priority should be to focus on finishing the great task of ‘Attaining God’ or ‘Self-realization’, for which we are given a human birth. In order to complete the journey to God easily, effortlessly and quickly, this spiritual book ‘Shīghra Ishwara Prāpti’, compiled from the ambrosial discourses of Pujya Sant Shri Asharamji Bapu, will be extremely helpful. Topics include the following:
* How to quickly attain Self-Realization?
* How to awaken Your Amazing Power?
* Who is the Qualified Aspirant after Liberation?
* Who is not Reborn in this World?
* What should we do to Avoid Rebirth?
* Wāh Re Mauj Fakirā Di…
* How to develop divine Bhāva?
* Selflessness helps in Attaining Self-realization
* What is Ananya Bhāva, and How to cultivate it?
* ‘For the good of the many, for happiness of the many’… Such should be the Spirit of Seva
* What inspired Lala Babu, a Wealthy Merchant to tread the Path of attaining God quickly?
* How to make life disease-free through Yoga?
* Urjāyī Prānāyāma – Helps in building a robust Body, increasing the lifespan, power of ascertainment, and a Stress-free Life
* Agnisāra Kriyā – A Yoga Technique to activate digestive fire
* Brahma Mudrā – A Hand Gesture to help Cope with Depression and Improve Concentration
* Physical Exercise for Knee Joint pain
* Freedom from the cycle of birth and death, only through Guru’s grace

Category:

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Shighra Ishwar Prapti (Kannad)”