Bal Sanskar (Punjabi)

बाल संस्कार
सरल, सुबोध शैली में बच्चों में सुसंस्कारों का सिंचन करने हेतु तथा उत्तम चारित्र्य-निर्माण में सहायक बालोपयोगी सामग्री का संकलन है ‘बाल संस्कार’ पुस्तक । बच्चों में छुपे असीम सामर्थ्य को विकसित करने में अमूल्य योगदान देनेवाली है यह पुस्तक । इसकी मदद से देश-विदेश में स्थित हजारों ‘बाल संस्कार केन्द्र’ बच्चों में सुसंस्कार-सिंचन का कार्य कर रहे हैं । इसमें है माता-पिता, शिक्षकों और बच्चों के लिए उपयोगी अनेक जानकारियाँ :
* कैसी हो विद्यार्थी की आदर्श दिनचर्या ?
* स्मरणशक्ति बढ़ाने के सरल उपाय
* विभिन्न रोगों में उपयोगी कुछ मुद्राएँ, प्राणायाम व आसन
* स्मृतिशक्ति बढ़ाने में बहुत उपयोगी – ध्यान व त्राटक
* शक्तिसंचय का महान स्रोत – मंत्रजप-मौन
* ओज, तेज, बुद्धि और जीवनीशक्ति के विकास में सहायक – त्रिकाल-संध्या
* शारीरिक, मानसिक स्फूर्ति जगानेवाला तथा विचारशक्ति व स्मरणशक्ति का विकास करनेवाला – सूर्यनमस्कार
* आध्यात्मिक शक्तियों के केन्द्र – सात यौगिक चक्र
* उत्साह, तत्परता, निर्भयता और प्राणशक्ति जगानेवाली – प्राणवान पंक्तियाँ
* सद्गुणों का संचार करनेवाली – साखियाँ व श्लोक
* महान, सफल एवं सबका प्यारा बनानेवाले आदर्श बालक के गुण ?
* भारतीय संस्कृति की परम्पराओं का तात्त्विक व वैज्ञानिक महत्त्व
* विद्यार्थी परीक्षा में सफलता कैसे पायें ?
* विद्यार्थी छुट्टियाँ कैसे मनायें ?
* आप जन्मदिवस कैसे मना रहे हैं – प्रकाश करके या अँधेरा करके ? जानें सही तरीका
* उज्ज्वल भविष्य बनाने में मददगार – कुछ शिष्टाचार व जीवनोपयोगी नियम
* सद्गुणों को पोषित करनेवाली प्रेरक कहानियाँ
* दाँतों और हड्डियों के दुश्मन हैं बाजारू शीतल पेय
* चाय-कॉफी पीने के घातक दुष्परिणाम
* भयसूचक घंटी है – फास्टफूड जैसे आधुनिक खान-पान ?
* सौंदर्य-प्रसाधनों में छिपी हैं निरपराध, बेजुबान प्राणियों की मूक चीखें और हत्या
* बाजारू आइसक्रीम – कितनी खतरनाक, कितनी खाद्य ?
* दुष्ट कर्मों को भड़कानेवाला व अनेक घातक बीमारियों की जड़ : मांसाहार
* आप चॉकलेट खा रहे हैं या निर्दोष बछड़ों का मांस ?
* जानलेवा रोगों की जड़ : अंडा
* तड़प-तड़पकर मौत देनेवाला : गुटखा-पानमसाला
* जीते जी नरकमय जीवन बनानेवाले साधन
* सोने के तरीके से जानें बच्चे की मानसिक व आंतरिक अवस्था
* सुदृढ़ राष्ट्र के निर्माण हेतु पूज्य संत श्री आशारामजी बापू का पावन संदेश
* मेरी वासना उपासना में बदली (अनुभव)
* माँ-बाप को भूलना नहीं (भजन)

Bāla Saņskāra
This book, “Bāla Saņskāra” is a compilation of material useful in the character building of children and to instill in them, moral values, in a simple and lucid style.
It is set to impart priceless contribution to the development of the infinite power hidden in children. By means of this book, thousands of Bāla Saņskāra Kendras across the globe have been carrying out the divine work of instilling good, moral values in children. It includes information useful for parents, teachers and children; the topics are listed below:

* What should be the ideal daily routine for children?
* Simple ways to increase memory power
* Asanas (postures), pranayamas (breathing techniques) and mudras (positions or gestures which represent the psyche) for various ailments.
* Meditation and Trataka: Immensely beneficial in increasing memory power
* Mantra Japa and Mauna: An excellent way to conserve energy
* Trikāla Sandhyā- Beneficial for increasing vigour & vitality, lustre, intellect and Life Energy.
* Sūrya Namaskāra (Sun Salutation) – improves physical & mental agility; increases the power of inquiry and memory power.
* Seven Yogic Chakras – The Seven Spiritual Energy Centres
* Inspiring couplets to foster enthusiasm, diligence, fearlessness, and awaken life-force
* Couplets and Verses to inculcate virtues
* Virtues to make a child great, successful & affable
* Philosophical and scientific import of Indian cultural traditions
* How to achieve success in exams
* The ideal way to spend your holidays
* How do you celebrate your birthday, by lighting a lamp or blowing out candles? Learn the correct way.
* Useful rules for good conduct to brighten your future
* Inspirational tales to foster virtues
* Bazaar Cold drinks: Enemies of teeth and bones
* Grave adverse effects of drinking tea & coffee
* Modern fast-food eating habits – An alarm
* Cosmetics Products concealing the silent screams of slaughtered innocent animals
* Bazaar ice-creams – Wholesome or unwholesome?
* Meat eating: inciting evil acts, and the root cause of numerous fatal diseases
* Are you eating chocolate or the flesh of innocent calves?
* Eggs – The root cause of many deadly diseases
* Gutkha & Paan-masala: The giver of an agonizing death
* The instruments which make life hellish
* Know about a child’s mental and inner state from its sleeping position
* A sacred message from revered Saint Shri Asharamji Bapu for strong nation-building
* My Lust sublimated into Devotion (an experience)
* Do not forget your parents (A devotional song)

Category:

Additional information

ISBN ( PaperBack )

"978-93-89972-78-8"

ISBN ( E-Book )

"978-93-90235-96-4"

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Bal Sanskar (Punjabi)”