🔹🔹 जोधपुर हाई कोर्ट केस अपडेट🔹🔹

🔹दिनांक: 21 मार्च 2024

पूज्य बापूजी के आयुर्वेदिक इलाज के लिए आज जोधपुर हाईकोर्ट में सुनवाई हुई l कोर्ट ने माधवबाग व करवड़ जोधपुर को मना करते हुए आरोग्यं आयुर्वेदिक अस्पताल (हॉस्पिटल) जोधपुर’ में 10 दिन के इलाज की स्वीकृति दी है। कोर्ट ने यह भी कहा कि आप माधवबाग के चिकित्सक भी यहाँ साथ में रख सकते हैं। कोर्ट ने सावधान करते हुए ये भी कहा कि यदि किसी तरह की कानून-व्यवस्था बिगड़ती है तो आपको तुरंत जेल शिफ्ट कर दिया जायेगा।

⚠सभी साधकों से विनम्र प्रार्थना है कि कोई भी साधक जोधपुर न आये और ऐसा कोई कार्य न करें जिससे हमारे गुरुदेव के इलाज में रूकावट हो, पूज्य बापूजी ने स्पष्ट शब्दों में कहा था कि हॉस्पिटल के बाहर साधक भीड़ नहीं करें, प्रशासन को परेशान न करें।

🔹गुरुदेव के ये वचन जोधपुर के लिए भी लागू होते हैं । इनका पालन करते हुए सभी साधक गुरुदेव के उत्तम स्वास्थ्य के लिए अपने-अपने स्थानों पर जप आदि करें ।

🔹सभी साधकों का संकल्प, जप फलीभूत हुआ है। सभी को खूब-खूब साधुवाद !

==================

कृपया सभी पूज्यश्री के उत्तम स्वास्थ्य के लिए जप और प्रार्थना करें ।

🔹 सभी साधक भाई-बहनें गुरुदेव के उत्तम स्वास्थ्य के लिए जप-हवन एवं शुभ संकल्प अवश्य करें।

🔹 सर्वरोगनाशक मंत्र व संकल्प
🔹 संकल्प : मेरे पूज्य गुरुदेव संत श्री आशारामजी बापू स्वस्थ हो रहे हैं और स्वस्थ हो रहे हैं और स्वस्थ्य हो रहे हैं । पूर्ण स्वस्थ… ॐ ॐ ॐ… पूर्ण निरोग… ॐ ॐ ॐ…
मेरा यह दृढ़ संकल्प ब्रह्मांड व्यापी हो रहा है । हरि ओम्मा… हरि ओम्मा… हरि ओम्मा…
मंत्र :
अच्युताय गोविन्दाय अनन्ताय नाम भेषजात् ।
नश्यन्ति सर्व रोगाणि सत्यं सत्यं वदाम्यहम् ।।
———————–

🔹 उत्तम स्वास्थ्यप्रदायक एवं समस्त आपत्ति-विनाशक ‘धर्मराज मंत्र’
‘ॐ क्रौं ह्रीं आं वैवस्वताय धर्मराजाय भक्तानुग्रहकृते नमः ।’
पहले और बाद में पूरा मंत्र पढ़ें और बीच में 4 बीज मंत्रों अर्थात् *‘ॐ क्रौं ह्रीं आं’ मंत्र की जितनी भी माला करना चाहें करें । जिनके लिए जप करेंगे उनको तो फायदा होगा साथ ही जपकर्ता को भी फायदा होगा।
मंत्र जपने से पूर्व निम्नलिखित विनियोग करें :
‘अस्य श्री धर्मराजमन्त्रस्य वामदेव ऋषिः गायत्री छन्दः शमन देवता अस्माकं सद्गुरुदेवस्य संत श्री आशारामजी महाराजस्य उत्तम स्वास्थ्यार्थे सकल आपद् विनाशनार्थे च जपे विनियोगः ।’
‘ॐ क्रौं ह्रीं आं’
———————–

🔹 महामृत्युंजय मंत्र
विनियोग : ॐ अस्य श्री महामृत्युंजय मंत्रस्य वसिष्ठ ऋषिः अनुष्टुप् छन्दः श्री महामृत्युंजय रुद्रो देवता, हौं बीजम्, जूँ शक्तिः, सः कीलकम्, श्री आशारामजी सद्गुरुदेवस्य आयुः आरोग्यः यशः कीर्तिः पुष्टिः वृद्ध्यर्थे जपे विनियोगः ।
ॐ हौं जूँ सः । ॐ भूर्भुवः स्वः । ॐ त्र्यम्बकं यजामहे सुगंधिं पुष्टिवर्धनम् । उर्वारुकमिव बन्धनान्मृत्योर्मुक्षीय मामृतात् । ॐ स्वः भुवः भूः ॐ । सः जूँ हौं ॐ ।
सभी साधक भाई-बहनें अपने घरों में भी गुरुदेव के स्वास्थ्य के लिए जप-अनुष्ठान व संकल्प अवश्य करें ।

आश्रम के Whatsapp पर जुड़ने के लिए 9978782229 पर मैसेज करें ।
🔹 सभी साधक भाई-बहन पूज्य बापूजी के उत्तम स्वास्थ्य एवं शीघ्र रिहाई के लिए जप, प्रार्थना व संकल्प जरूर करें ।
☎️ सम्पर्क : (079) 61210888
संत श्री आशारामजी आश्रम, अहमदाबाद
*Ref:- https://t.me/asharamjiashram/5838