Books

Nashe Se Savdhaan
Nashe Se Savdhaan
ISBN (Paper Back):978-93-89972-53-5   ISBN (E-Book):978-93-90235-33-9  

"नशे से सावधान" अधोगामी जीवन को उर्ध्वगामी बनाने और दिव्य जीवन जीने को प्रेरित करनेवाले इस सत्साहित्य में है :

* भगवत्पाद साँईं श्री लीलाशाहजी महाराज के मर्मस्पर्शी वचन

* नशा व्यक्तिगत व सामाजिक तौर पर कितना नुकसानदायक ?

* वैज्ञानिकों द्वारा किये गये धूम्रपान पर शोध

* तम्बाकू की स्याही का विषैला प्रभाव

* तम्बाकू के सेवन से होनेवाले घातक रोग

* नशा छोड़ने से बचने हेतु दिये जानेवाले मूर्खतापूर्ण तर्क

* बीड़ी की लत छोड़ने में सहायक एवं स्वास्थ्य-प्रदायक प्रयोग

* बीड़ी-तम्बाकू के सेवन की हानियों से संबंधित एक डॉक्टर का अनुभव

* चाय-कॉफी द्वारा स्वास्थ्य का होता सर्वनाश

* चाय-कॉफी के बदले बनायें आयुर्वैदिक चाय

* शराब के घातक दुष्परिणाम 

* व्यसनों से मुक्ति..... परंतु किस प्रकार ?

* व्यसन से ग्रसित लोगों का जीवन कैसे बना निर्व्यसनी (अनुभव)

* इस पुस्तक को बार-बार पढ़ना... दारू छोड़ने की हिम्मत आ जायेगी ।

* पूज्य संत श्री आशारामजी बापू का पावन-संदेश - व्यसन त्यजो... हरि को भजो

Previous Article Nirogta Ka Sadhan
Next Article Jivan Rasayan
Print
469 Rate this article:
No rating
Please login or register to post comments.