Admin

किशमिश विशेष :-

किशमिश विशेष :-
ये ऋतु थोडा शारीर में से बल क्षीण करने वाली है | जीवनी शक्ति कमजोर करनी वाली ऋतु गर्मी और बारिश इस ऋतु में किशमिश वरदान है | किशमिश में क्या फायदे होते है - किशमिश का स्वाभाव मधुर है, उसका परिणाम शीतल है वायु, पित्त और काफ इन तीनो दोषों को शमन करने का शक्ति किशमिश में है | दूध तो कियो को वायु करता है लेकिन किशमिश में दूध के सरे गुण है लेकिन वायु का दोष नही | और आज कल जो दूध महंगा है उसके हिसाब से किशमिश सस्ती है | क्यूंकि दूध जितना पिये और जो बने उससे किशमिश थोड़े में ही उतना बना देती है |

खाने की रीत :-
किशमिश १५ से ५० ग्राम तक अच्छी तरह से धोकर थोड़ी देर फिर शुद्ध पानी में फिर जयादा चबा चबा कर मजे से खायें, दूध में तो ना जाने कितना कितना गड़बड़ी और प्रीसरवेटिव पड़ता है| किशमिश में वो सब मुसीबतें नहीं |

फायदे :-
खाने से खून बनता है, वायु दोष दूर होता है, पित्त दूर होता है, काफ दूर होता, और हृदय के लिये बड़ा हितकारी है और हार्ट अटैक को दूर रखेगा | दूध के लगभग सभी तत्व किशमिश में पाये जाते है | दूध की अपेक्षा पचने में किशमिश आधा समय लेता है आधी ताकत लगाता है | वृद्ध अवस्था में किशमिश का उपयोग बल और आयु बढ़ने वाला होता है, दुर्बल और खून की कमी वालों के लिए ये किशमिश एक टोनिक और वरदान है | १०० किशमिश में ८ मिली ग्राम लोह तत्व, ८७ मिली ग्राम कैलशियम और ३०८ कैलोरी (ऊर्जा ) पायी जाती है | किशमिश की शर्करा शीघ्र
पच जाने के कारण इसे खाने के बाद उत्साह और प्रसन्ता और शक्ति तुरंत प्राप्त होती है |


- Pujya Bapuji Mumbai 3rd June 2012

Previous Article लू लगने से बेहोशी :-
Next Article राजमा से सावधान :-
Print
14824 Rate this article:
4.0
Please login or register to post comments.

Seasonal Care Tips