Sant Shri
  Asharamji Ashram

     Official Website
 
 

Register

 

Login

Follow Us At      
40+ Years, Over 425 Ashrams, more than 1400 Samitis and 17000+ Balsanskars, 50+ Gurukuls. Millions of Sadhaks and Followers.
Recent Articles
29 Aug 14 Major Concerns Raised in California Newspaper against Misuse of POCSO and Anti-Dowry Laws
Sade Lok, popular Punjabi Newspaper in California, major concerns have been raised about the misuse..... Read more..
29 Aug 14 विघ्नों को दूर करने के लिए मनायें : गणेश चतुर्थी
विघ्नों को दूर करने के लिए मनायें : गणेश चतुर्थी .. Read more..
26 Aug 14 तुलसी पूजन व पवित्र गंगा मैया में स्नान कर मनाई सोमवती अमावस्या बापूजी के साधकों ने....
तुलसी पूजन व पवित्र गंगा मैया में स्नान कर मनाई सोमवती अमावस्या बापूजी के साधकों ने.... .. Read more..
12 Aug 14 ओडिशा-जाजपुर में आयी भीषण बाढ़ में आशाराम बापूजी आश्रम द्वारा राहत सेवा
ओडिशा-भुवनेश्वर एवं जाजपुर समिति के पुण्यात्मा साधकों द्वारा जाजपुर में आयी भीषण बाढ़ में तत्परतापूर..... Read more..
आज तक द्वारा किये गए तथाकथित स्टिंग ऑपरेशन की वास्तविकता

'आज तक' द्वारा किये गये

तथाकथित स्टिंग ऑपरेशन की वास्तविकता

दिनांक 10 d 11 सितम्बर 2010 को 'आज तक' चैनल द्वारा स्टिंग ऑपरेशन के नाम पर संत श्री आसारामजी बापू पर कीचड़ उछालने का जो कुप्रयास किया गया, वह हिन्दुओं की धार्मिक आस्था को तोड़ने के लिए निहित स्वार्थियों द्वारा रचा गया एक झूठा नाटक था । काफी लम्बे समय तक चले इस टी.वी. शो में बापूजी पर जो भी आरोप लगाये गये, वे स्टिंग ऑपरेशन के एंकर ने नाटकीय अंदाज में अपने ही मुँह से कहे हैं । 'कैमरा सच बोलता है।'- का राग आलापनेवाले सज्जन ने कैमरे को कहीं सच बोलने ही नहीं दिया, खुद ही उस पर हावी हो गये । आइये, स्टिंग ऑपरेशन का पोस्टमार्टम कर इसकी सत्यता की परीक्षा करें ः

(1) 'हम वैदिक इंस्टीटयूट खोलना चाहते हैं । और संत तो फीस लेते हैं, टिकट रखते हैं, आप कुछ लेते नहीं, निःस्वार्थ सेवा करते हैं इसलिए हम आपके पास आये हैं । आपको 70 करोड़ अर्पण करना चाहते हैं ।' - ऐसा कहकर इन्होंने बापूजी को दो नम्बर के धन की ऑफर की । तब बापूजी ने जो उत्तर दिया उसे इनके कैमरे ने क्यों नहीं दिखाया ? क्योंकि पूज्य बापूजी ने दो नम्बर का हो चाहे एक नम्बर का, किसी भी प्रकार का धन लेने से साफ इन्कार कर दियाथा । उलटा बापूजी ने कहा था कि 'यदि संस्था खोलके सेवा करनी है तो हम दूसरे के पैसे से क्यों करेंगे ? हम तो अपने से ही सेवा करेंगे, कर ही रहे हैं, कितने गुरुकुल चल रहे हैं और भी खुलेंगे । हमें नहीं चाहिए पैसे !' 70 करोड़ अर्पण करने की बात करते-करते उनका दम निकल गया लेकिन बापूजी ने कहा कि 'हमें आपके 70 करोड़ तो क्या 70 पैसे भी नहीं चाहिए ।' वह ये लोग क्यों नहीं दिखाते? इन आगे की बातों को उड़ा दिया गया । कितने ही गरीब-गुरबों के लिए 'भजन करो, भोजन करो, दक्षिणा लो।'- इस योजना के अंतर्गत जपयज्ञ चलते हैं, सैकड़ों गरीबों को सीधा-सामान बाँटते हैं, हजारों गायों की सेवा चलती है । जैसे दैवी कार्य बापू ने किये हैं, वैसे किसीने सुने नहीं हैं । जहाँ सुमति और करकसर होती है, वहाँ तुम्हारे दो नम्बर के पैसे तो क्या एक नम्बरवालों का भी रुपया जरूरी नहीं होता । चैनलवाले कभी किसी तो कभी किसी संत-महंत, महामंडलेश्वर की निंदा भी करते और उसमें बापूजी का समर्थन माँगते पर 'निंदा किसीकी हम किसीसे भूलकर भी ना करें ।' का संदेश देनेवाले बापूजी की वजह से इनकी मुरादों पर पानी फिर जाता था, वह क्यों नहीं दिखाते ? जब उनके ये दाँव विफल हो गये तब उन्होंने नया षड्यंत्र रचा ।

(2) 'आज तक' की स्टिंग ऑपरेशन की टीम ने बापूजी से मुलाकात का समय किस आधार पर और क्या बताकर लिया था, इस प्रारंभिक वार्ता को कैमरे की ऑंख से क्यों नहीं दिखाया गया ? इस पूरी बातचीत को चैनलवालों ने अपने मुँह से बोलकर क्यों बताया ? क्योंकि कैमरा तो सच बोलता है और यहाँ इन्हें एक बहुत बड़ा झूठ बोलना था जो इनके इस पूरे नाटक का मूल था । वास्तव में इन्होंने बापूजी से कहा था कि 'पूनम खन्ना नाम की एक लड़की को अमेरिका में एक झूठे आर्थिक आपराधिक केस में फँसाया गया है । पूनम फरार है और पुलिस उसे ढूँढ़ रही है । वह किसी तरह बचकर मुंबई आ गयी है और इतनी डिप्रेशन (अवसाद) में है कि आत्महत्या करने की स्थिति में है । इस संकट से छुटकारा पाने के लिए वह बापूजी से मिलना चाहती है।'

इन्हें पता था कि बापूजी सरल प्रकृति के दयालु संत हैं, परदुःखकातरता उनका स्वभाव है । इस विनम्र प्रार्थना को वे टालेंगे नहीं और हुआ भी ऐसा ही । सबका भला चाहनेवाले बापूजी उससे मिलने को राजी हो गये । पर इस सारे घटनाक्रम को, जो इनके गुप्त कैमरे में लिया गया था, लोगों को न दिखाकर पूरे जोर-शोर से बार-बार यह बताया गया कि 'आपने सुना, हमारे रिपोर्टर ने साफ तौर पर कहा कि पूनम फरार है, उस पर आपराधिक केस है और पुलिस उसे ढूँढ़ रही है, फिर भी बापू ने उसे पनाह दी ।'

चैनलवालों ने ही दिखाया कि बापूजी ने ऐसा कहा था ः 'दो-चार दिन रहे इधर, सत्संग सुने... मैं मंत्र देता हूँ...' परंतु इन बातों को भड़काऊ तरीके से पेश करके ऐसा दिखाया कि बापूजी ने किसी अपराधी महिला को पनाह दी। उन्हीं शब्दों को बार-बार पुनरावृत्ति कर विकृत रूप से पेश किया तथा लोगों को भ्रमित किया । पूनम बार-बार कह रही थी कि उसे डर लग रहा है, रात को नींद भी नहीं आती, बहुत टेंशन है । उसके मन से भय हटाने तथा उसे आत्महत्या की मनोवृत्ति से उबारने के लिए बापूजी ने उसे कहा कि पुलिस यहाँ नहीं आ सकती है । पूज्य बापूजी झूठे कोर्ट मुकदमे से छूटने के लिए तथा डिप्रेशन से ग्रस्त लोगों के लिए जाहिर सत्संगों में अनेकों बार लाखों लोगों के सामने मंत्र देते हैं यह जगजाहिर है ।

एंकर ने दर्जनों बार लोगों को उपरोक्त झूठी बात सुनायी, पर एक बार भी यह क्यों नहीं बताया कि 'पूनम निर्दोष थी, उसे फर्जी केस में फँसाया गया है' ऐसा हमने बापूजी को बताया है । यह बता या दिखा देने से इनके स्टिंग ऑपरेशन की सारी हवा ही निकल जाती । यह एक बहुत बड़ा झूठ था, इसी झूठी नींव पर स्टिंग ऑपरेशन की सारी इमारत खड़ी की गयी थी ।

बापूजी के परदुःखकातरता के स्वभाव का नाजायज फायदा उठाकर विदेशी षड्यंत्रकारी देशद्रोहियों के इशारों पर नाचनेवाले ये लोभी 'आज तक' चैनलवाले 'हम भक्तों की भावनाओं को ठेस नहीं पहुँचाना चाहते हैं ।' ऐसा ढोल पीटकर करोड़ों लोगों की भावनाओं को झूठे नाटक के द्वारा कितनी बेशर्मी से ठेस पहुँचा रहे हैं । - यह कल्पना से भी परे है।

(3) 'मुलाकात के लिए दिया बापू ने अकेले में कई घंटे का वक्त !' - ऐसा इन्होंने कहा । जबकि सच तो यह है कि कई घंटे तो दूर, पूरे शो के दौरान एक मिनट के लिए भी कहीं पूनम बापूजी के साथ अकेले नहीं दिखाई पड़ी। ये साजिशकर्ता उस लड़की को बापू के सान्निध्य में छोड़ के जाने की बात करते लेकिन बापू ने उसे अपनी भक्तके साथ भेजा, उसे 'बेटा, बेटी' कहके सम्बोधित किया, यह वे क्यों नहीं दिखाते?

(4) चैनलवालों ने ही बापूजी को बोला था कि पूनम के मन में इतना भय घुसा हुआ है कि अपने नाम का टिकट लेने में भी उसको डर लगता है कि कहीं पुलिस पकड़ न ले । इसलिए दूसरे नाम से टिकट ले के ही यात्रा करती है। वह दूसरे नाम से टिकट ले के आयेगी ।

(5) बापूजी के इस कथन को कि 'मैं मंत्र देता हूँ, अपने-आप उसकी मेंटेलिटी चेंज हो जायेगी ।' को विकृत रूप में पेश करते हुए चैनलवाले 'सेंटीमेंटल (भावुक) हो जायेगी' ऐसा बता रहे हैं ।

(6) 'हम वही दिखा रहे हैं जिसे हमारे कैमरे ने रिकार्ड किया है और कैमरा सच बोलता है ।' का बार-बार राग आलापनेवाले ये चैनलवाले कैमरे से रिकार्ड की हुई पूरी बात को तो कहीं दिखाते नहीं, केवल कैमरे की झूठी दुहाई देकर एक ही बात को कई-कई बार नाटकीय अंदाज में बोलकर लोगों पर थोपने की कोशिश कर रहे हैं ।

(7) बापूजी ने कहा कि 'यहाँ सी.एम. मत्था टेकते हैं ।' इसमें क्या गलत कहा ! कितने ही सी.एम. ही नहीं पी.एम. भी मत्था टेककर अपना भाग्य बना चुके हैं, कितने आज भी टेक रहे हैं और आगे भी टेकते रहेंगे अपना भाग्य बनाने के लिए । अभी हाल ही में इसी वर्ष मध्य प्रदेश, उड़ीसा तथा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्रियों ने उन्हें राजकीय अतिथि का दर्जा देकर सम्मानित किया है ।

(8) 'आज तक' चैनलवालों का कहना है कि उन्होंने स्टिंग ऑपरेशन द्वारा रहस्योद्धाटन कर बापूजी को ऐसा बोलते हुए दिखाया कि यहाँ चम्बल की घाटीवाले आते हैं और पुलिस को मारनेवाले आते हैं । परंतु समस्त विश्व के लोग जानते हैं कि बापूजी चम्बल घाटी के ऐसे व्यक्ति के जीवन-उत्थान की बात वर्षों से अपने जाहिर सत्संगों में लाखों भक्तों के सामने अनेकों बार कह चुके हैं । यह बात भी बापूजी बताते आये हैं कि पुलिसवालों को भी मारनेवाले गुंडा प्रवृत्ति के लोग जब आते थे तो बापूजी ने उनसे पुलिसवालों की रक्षा की है । ब्रह्मज्ञानी संतों के सत्संग-सान्निध्य में आकर दुर्दान्त डाकू अंगुलिमाल, क्रूर आततायी जगाई-मधाई, डाकू रामखान जैसे कितने ही अपराधियों का जीवन बदल गया। सठ सुधरहिं सतसंगति पाई। इस प्रकार इतिहास साक्षी है कि सत्संग, साधना, भगवन्नाम एवं मंत्रजप के द्वारा कितने ही पतितों का उध्दार हुआ है और यही सत्संग, साधना, मंत्रजप का मार्ग बापूजी ने पूनम को दिखाया था ।

(9) 'साधना में लग जा, माइंड चेंज कर दूँगा ।' यह बहुत ऊँची बात है । कुप्रचारकों की बुध्दि यदि इस सत्य को स्वीकार कर ले और वे साधना में लग जायें तो उनका भी माइंड चेंज हो सकता है । बापूजी की इस बात को मानकर करोड़ों लोग साधना में लग गये और उनका माइंड चेंज हुआ और आज वे पहले से बेहतर शांतिमय, आनंदमय जीवन जी रहे हैं । अब इस बात में भी चैनलवालों को यदि बुराई दिख रही है तो इसका क्या इलाज है !

(10) उस भयंकर रूप से डरी हुई लड़की को दिलासा देने के लिए बापूजी ने उसे अपनी किसी भक्त के साथ रहकर मंत्रजप करते हुए चिंतामुक्त हो के रहने को कहा । 'यहाँ तेरा एक बाल भी कोई छू नहीं सकता ।' इस बात को चैनलवाले अत्यंत विकृत ढंग से दिखाते रहे पर बापूजी ने पूनम को 'बेटा, बेटी' कहकर सम्बोधित किया, यह क्यों नहीं हाईलाइट करके दिखाते ?

(11) अपनी भारतीय सनातन संस्कृति का मखौल उड़ानेवाले विदेशी स्वामित्व में चलनेवाले 'आज तक' चैनल के ये मीडियाकर्मी, 'हम हिन्दू समाज के खिलाफ स्टिंग ऑपरेशन नहीं दिखा रहे हैं और किसीकी भावनाओं को ठेस नहीं पहुँचा रहे हैं ।' का बार-बार झूठा प्रलाप कर कब तक लोगों की ऑंखों में धूल झोंकेंगे ? दुनिया जानती है कि बापूजी क्या हैं और ये चैनलवाले क्या कह रहे हैं । ब्रह्मनिष्ठ आत्मसाक्षात्कारी पूज्य बापूजी के प्रति एक 'आज तक' तो क्या हजार 'आज तक' चाहे कितने भी स्टिंग ऑपरेशन, कैसे भी नाटक कर लें, बापूजी के दीवानों की श्रध्दा रंचमात्र भी कम होनेवाली नहीं है । 'आज तक' चैनल से देश की जनता यह सवाल कर रही है कि षड्यंत्रकारी राजू लम्बू के द्वारा बापू पर लगाये गये आरोप तो खूब मिर्च-मसाला लगाकर आपने दिखाये थे, परंतु जब उसके आरोपों की पोल खुल गयी तब आपने वह स्टिंग ऑपरेशन क्यों नहीं दिखाया ?

(12) बापूजी को बदनाम करने पर तुले हुए इस चैनल ने इस कार्य में अपनी एड़ी-चोटी एक कर दी लेकिन विडियो रिकॉर्डिंग में जोड़-तोड़ (एडिटिंग) करने में आखिर उनसे भूल छूट ही गयी । चैनल ने भूलवश रिकार्डिंग का वह अंश भी दिखा दिया, जिसमें बापूजी कहते हैं कि ''देखना ! नीचे देखकर चलना, जीव-जंतुओं को तकलीफ नहीं होनी चाहिए ।'' ऐसे प्राणिमात्र का ख्याल रखनेवाले, प्राणिमात्र के हितैषी संत श्री बापूजी क्या किसीका बुरा सोच या कर सकते हैं ? यदि 'आज तक' में थोड़ी-सी भी नैतिकता है तो सम्पूर्ण रिकार्डिंग बिना कोई एडिटिंग किये जनता को दिखाये और हमें भी भेजे ।

(13) जून के पहले सप्ताह में किये गये स्टिंग ऑपरेशन में यदि सच्चाई होती तो ये 4-6 दिन में ही दिखा देते लेकिन तीन महीने के लम्बे अंतराल के बाद इसे क्यों दिखाया गया ? इसका कारण यही है कि इसे तोड़ने-मोड़ने और उत्तेजक खबर बनाने में कई विशेषज्ञों की सेवाएँ ली गयी होंगी, खूब लम्बी मंत्रणाएँ हुई होंगी और सम्भव है सनातन संस्कृति के विरोधियों से करोड़ों रुपयों की सौदेबाजी भी हुई होगी ।

अब साधकों तथा सुज्ञ पाठकों को निर्णय करना है कि तथ्यों को तोड़-मरोड़कर दिखानेवाले ऐसे चैनल का बहिष्कार करना है या उसकी झूठी खबरें झेलते रहना है । द्वेषपूर्ण साजिश से भरी इनकी खबरों के चक्कर में आकर अपनी शांति, श्रध्दा को भ्रष्ट नहीं करना है ।

- ओमप्रकाश मिश्र

  Comments

Dont let them go..
Created by sagar in 6/4/2011 9:52:28 AMIf Aaj-Tak news channel has given a false news then you should register a case against them, Whatever they have done is really not good and will never be appreciated. Please register a complain against them.
New Comment
Created by Rishi Rai in 4/5/2011 2:10:25 AMAise Chanelo ko aur enke chalane walo ko Peet Peet kar adhmara kar dena cahiye lekin yeh bapu jee ke updeso ke virudh hoga.Lekin Uska desision uper wala lega.Man to yahi karta hai ki uske malik ko hi pure bajar me kutte ki tarah Peeta jay.
just a small differnece
Created by revti in 10/30/2010 9:16:51 AMjust a simple question
what is the difference between a dog and a donkey ?
its aaj tak news channel so simple na

Govt. Ko aise farji channels jo farji news batate h unhe band kr dena chaiye
Created by Shubhankar sen in 10/28/2010 8:54:19 AMgovt. Ko aise channels band kr dena chaiye jo galat baten btate h aur mujhe to mere bapu par yakin h.
par chahe kuch b ho jaye baki ye news wale kabhi nhi sudhar sakte h inko to bs masala chaiye tv par dekhane k liye
(HARI OM)

Faith:----
Created by nepal singh chauhan in 10/26/2010 9:57:00 PMJai guru dev hum ko parun vishavas hai..
hum hi jante hai...hame aapse kya mila hai...yeh sab aajtak wale kya jaane...i hav no words to explain .. jiski sharda purn hogi wo hi tika rahega...Nepal singh chauhan Gurgaon,Laxman vihan part II,

know the fact please all of you.
Created by rohit38 in 10/26/2010 9:56:25 AMaaj tak walo,, kabhi bhi sachayeee jaano,, kishi sant koh aiso badnam karoge toh bahut bura hoga. jab ishwar hain toh tumhe woh jaroor tumharee karnee ka hisaab denge.
New Comment
Created by manish in 10/26/2010 8:23:56 AMkutte bhuke hazar hathi chale bazar
Jai Gurudev
Created by Dheeraj in 10/25/2010 7:52:53 AMHari Om.. Jo bhi ye pad raha ho us se main sirf itna kehna chahunga ki media kitni imandar hai aur kitni nahi ye aap sab jante hain. aise ek kya hajar hajar beimaan aur papi shadyantrakari log bhi mujhe aisa kuch sunae to bhi main unki baat nahi maan sakta kyoki mujhe mere swayam k anubhavo se pata hai ki bapuji sadguru hain aur purna satya hai... iske aage aur kya kehna.. aap bhi apni buddhi se thoda vichar kar ke aur ho sake to gurudev ke satsang me ja kar thoda samajh kar apna koi view point banayen.. Aaj Tak jaise paise khau channel aur beimaan bikau logo ki dhol ki pol khud aapki buddhi kar legi... guruvar ke Shri Charano me Koti Koti Pranam... Hari Om........
New Comment
Created by ankit in 10/21/2010 3:43:30 AMaj tak wale ne paisa khaya h, ye hamare sanskriti ko badnam krne ka shadyantra h, isme paschatya aur gire hue logo ka hath h, koi ise sacha nai manta.
hari om

bapuji apko pakar humne to sare jug ko garib man hai
Created by rahul in 10/20/2010 11:14:49 AMhari om aaj tak jaise anek media channel ne humare pujya iswar bapuji ka kuprachar kiya qki we log nai jante humare saiji to real me bhagwan hai qki unhone kabhi bhakti nai ki jo sache bhaqt hote hai n wo kabhi galat nai kehte hum to saiji ke bache hai or chahte puri duniya unke bache ban jaye lekin jo nastik hai we chahte hum unke jaise ban jo kabhi ho nai sakta hun duniya se alag hai qki humari duniya humare bapuji hai hum sirf jante hai to saiji ko hum to na hindu hai na muslim hum to saiji ke dharm ke hai meri prathna hai aaj tak va sabhi media channel se ki aap galat na bataye qki ye aap apni barbadi ko khula amantran derahe hai papi ban rahe ho aap sabhi saiji ke darbar me akar bhakti kare agar yeh nai kar sakte to kuprachar na kare hari ommmmmmmmmmmmm
Page 1 of 20First   Previous   [1]  2  3  4  5  6  7  8  9  10  Next   Last   

Your Name
Email
Website
Title
Comment
CAPTCHA image
Enter the code
  
Copyright © Shri Yoga Vedanta Ashram. All rights reserved. The Official website of Param Pujya Bapuji