Nepali Books

Baal Sanska (Nepali)

बाल संस्कार (नेपाली )

ISBN (Paper Back):978-93-89972-79-5


"बाल संस्कार"  सरल, सुबोध शैली में बच्चों में सुसंस्कारों का सिंचन करने हेतु तथा उत्तम चारित्र्य-निर्माण में सहायक बालोपयोगी सामग्री का संकलन है ‘बाल संस्कार’ पुस्तक । बच्चों में छुपे असीम सामर्थ्य को विकसित करने में अमूल्य योगदान देनेवाली है यह पुस्तक ।

  Read more

Divya Prerna Prakash (nepali)

दिव्य प्रेरणा-प्रकाश (नेपाली )

ISBN (Paper Back):978-93-89972-29-0
ISBN (E-Book):978-93-90235-07-0

"दिव्य प्रेरणा-प्रकाश"  बच्चों व युवक-युवतियों को ओजस्वी-तेजस्वी बनानेवाला, स्वास्थ्यबल, मनोबल एवं प्रभाव बढ़ाने तथा स्वस्थ-सम्मानित जीवन जीने की कला सिखानेवाला सत्साहित्य

इसमें है :

* ब्रह्मचर्य क्या है ?

  Read more

Ishwar ki Aur (Nepali)

ईश्वर की ओर (नेपाली )

ISBN (Paper Back):978-93-89972-28-3
ISBN (E-Book):978-93-90235-80-3

"ईश्वर की ओर" जीते-जी स्वयं की मौत का जीवंत दृश्य दिखाकर, सहजतापूर्वक अपने अमरस्वरूप की ओर ले जानेवाला सत्साहित्य

इसमें है -

* बिना मौत के श्मशान यात्रा की अनुभूति करानेवाला दिव्य ध्यान

  Read more

Jivan Rasayan (Nepali)

जीवन रसायन (नेपाली )

ISBN (Paper Back):978-93-89972-27-6
ISBN (E-Book):978-93-90235-72-8

"जीवन रसायन" कोई किसी भी प्रकार से कितना भी भयभीत, चिंतित, शोकातुर, निराश हो उसके लिए आध्यात्मिक टॉनिक का काम करता है यह साहित्य | स्वस्थ  मस्त एवं आत्मस्थ (आत्मा में स्थित) बनानेवाला सत्साहित्य

  Read more

Kya Karein, Kya Na Karei (Nepali)

क्या करें, क्या न करें ? (नेपाली )



"क्या करें, क्या न करें ?" पाश्चात्य सभ्यता के अंधानुकरणवश वर्तमान पीढ़ी अपनी भारतीय संस्कृति का सदाचरण-धर्म भूलती जा रही है । कब क्या करना और क्या न करना, इस बारे में शास्त्रसम्मत मार्गदर्शन के अभाव में उसका अधःपतन हो रहा है ।

  Read more

Nashe se Savadhan (Nepali)

नशे से सावधान (नेपाली )

ISBN (Paper Back):"978-93-89972-56-6"
ISBN (E-Book):"978-93-90235-36-0"

"नशे से सावधान" अधोगामी जीवन को उर्ध्वगामी बनाने और दिव्य जीवन जीने को प्रेरित करनेवाले इस सत्साहित्य में है :

* भगवत्पाद साँईं श्री लीलाशाहजी महाराज के मर्मस्पर्शी वचन

  Read more

Matru-Pitru Poojan (Nepali)

मातृ-पितृ पूजन (नेपाली )



"मातृ-पितृ पूजन" बाल व युवा पीढ़ी को पतन की खाइयों से बचाकर उज्ज्वल भविष्य व सुखमय जीवन की ओर ले जानेवाला सत्साहित्य

  Read more
RSS