पेड़-पौधों के प्रति भी कैसा अपनत्व !

Ashram India 0 375 Article rating: 5.0

प्राणिमात्र के प्रति करुणाभाव रखनेवाले करुणामूर्ति पूज्य बापूजी जैसे महापुरुष जहाँ भी जाते हैं उन्हें सब जगह अपना-आपा ही नजर आता है । पेड़-पौधों की पीड़ा भी उनको अपनी ही पीड़ा लगती है । 2012 की ही बात है । उदयपुर आश्रम में हम कुछ भाई आँवलों की गोड़ाई की सेवा कर रहे थे । पूज्यश्री घूमते हुए आये और बोले : ‘‘बगीचेवाले को बुलाओ ।’’

रूड़की, उत्तराखण्ड में पूज्य बापूजी के साधकों द्वारा किया गया घर-घर ऋषि प्रसाद अभियान

Ashram India 0 61 Article rating: No rating
RSS
123468910Last