सूरत केस में क्या चल रहा है ?

AshishAdmin 0 9358 Article rating: 4.7
सूरत केस में अपना पक्ष काफ़ी मज़बूत है | इस केस में बचाव पक्ष के 1 गवाह का बयान बाकि है, गवाही होनी थी पर जज का ट्रान्सफर होनेवाला है तो नए जज के आने के बाद ही सुनवाई शुरू होगी ।

अहमदाबाद केस में क्या चल रहा है ?

AshishAdmin 0 4301 Article rating: 2.5
सुप्रीम कोर्ट ने जल्द से जल्द ट्रायल पूरा करने को कहा है, सरकार की ओर से गवाहों के बयान चालू है | अगली सुनवाई 14 अप्रैल 2018 है। पूज्य बापूजी को जोधपुर से अहमदाबाद लाने का अभीतक कुछ भी नक्की नही है ।

कुछ लोग कहते है की आश्रमवाले नहीं चाहते है की बापूजी बहार आयें, क्यों है ऐसे आश्रमवासी और उनको बाहर क्यों नहीं किया जा रहा हैं ?

AshishAdmin 0 2778 Article rating: No rating
  • आश्रमवासी जो आश्रम में रह रहे है वो कितने सालों से आश्रम में रह रहा है और इस विपरीत माहौल में भी आश्रम में रह रहा है तो वो नहीं चाहने का कोई प्रश्न ही नहीं है और बापूजी ने भी सन्देश में कहा है की “जो अवसरवादी हैं वे आश्रमवालों को बदनाम करके खुद आश्रम के संचालक बनना चाहते हैं लेकिन उनको पता नहीं है कि हमारे भक्त जानते हैं कि आश्रमवाले बापू को चाहते हैं, बच्चे भी – बच्चियाँ भी चाहते हैं | एक आश्रमवासी ने उन्नीस-बीस की तो सभी आश्रमवालों को कोसो ये ठीक नहीं है |”
  • हाँ, कुछ काम करने की पद्धति या वैचारिक मतभेद के कारण कुछ लोगों का ये आरोप हो सकता है लेकिन ये सरासर गलत है की आश्रमवासी नहीं चाहते की बापूजी बाहर आये | कई जगापर वकील-वकीलों में भी मत-मतांतर होते है | 

 


 

पिछले इतने सालों से हम मंत्रजाप कर रहे हैं की बापूजी बाहर आयें पर अब तो मंत्र शक्ति से ही विश्वास उठने लगा है ?

AshishAdmin 0 3564 Article rating: No rating
इतना गहरा षड़यंत्र हो रहा है की पूज्य बापूजी की छवि को धूमिल कर करोड़ों लोंगों की आस्था को ठेस पहुँचाने का प्रयास किया जा रहा है लेकिन साधकों के मंत्रजप, संकल्प करने के कारण जितना नुकसान षडयंत्रकारी लोग पहुँचाना चाह रहे थे कम से कम उतना नुकसान नहीं पहुंचा पाये | आज भी लोग बापूजी से जुड़े हुए है, आश्रम और आश्रम द्वारा चलाये जा रहे सेवाकार्य चल रहे है | ये सभी शुभ संकल्प, जप-प्रार्थना का ही फल है |

साधकों को अब क्या करना चाहिए की बापूजी बाहर आयें ?

AshishAdmin 0 3696 Article rating: 2.0
🔷a) अफवाहों में न उलझें | भ्रामक ख़बरों व उनको फैलानेवाले माध्यमों से बचें | आश्रम से संबंधीत किसी भी तथ्य की जानकारी हेतु अहमदाबाद आश्रम से सम्पर्क करें | 

🔷b) संस्कृतिरक्षक प्राणायाम करें | (पढ़े ऋषि प्रसाद, नवम्बर २०१७, पृष्ट ४ )

🔷c) साधक पूज्य बापूजी की शीघ्र रिहाई हेतु प्रतिदिन *‘पवन तनय बल पवन समाना | बुधि बिबेक बिग्यान निधाना* ||’ मंत्र की *2 माला व *‘ॐ ॐ ॐ बापू जल्दी बाहर आयें |’* मंत्र की *1 माला* अवश्य करें |

🔷d) जप, त्राटक, ध्यान, आदि जो भी साधना तथा सेवा करें, पूज्य गुरुदेव की शीघ्र ससम्मान रिहाई के संकल्प के साथ करें |

🔷e) आश्रम संचालाक,समिति पदाधिकारी, युवा सेवा संघ, महिला मंडल, बाल संस्कार, ऋषि प्रसाद के प्रभारी या एक्टिव साधक जगह-जगह साधकों की बैठकों का आयोजन करें | बैठक में सबसे पहले सभीको पूज्य बापूजी का ऑडियो जो जोधपुर जेल से आया था सुनाया जाये | ‘साधक सम्पर्क अभियान’ चलायें जिसमें अपने आस-पड़ोस एवं क्षेत्र के साधकों से मिलने जायें और बापूजी का संदेश उन्हें सुनायें | उनकी साधना में प्रीति एवं गुरुदेव के दैवी सेवाकार्यों में सहभागिता का उत्साह बढ़े ऐसी चर्चा, ऐसा वार्तालाप उनके साथ करें |

🔷f) भक्त हनुमानजी की तरह अब हमें पहले से भी अधिक गुरुग्यान का, गुरु महिमा का डंका बजाना है | इसके लिए आश्रम/समिति द्वारा की जा रही सेवाओं में तथा बाल संस्कार, ऋषि प्रसाद, लोक कल्याण सेतु जैसे सभी सेवाओं में अधिक-से-अधिक सहभागी होवे |

🔷g) संगठन बल को बढायें...हमें अपना संगठन बल और भी मजबूत करना है | सभी साधक आपस में एक दूसरे के सहयोगी बनकर अपने क्षेत्र में सुप्रचार की सेवाओं में लगे रहें और पूज्य बापूजी के स्वास्थ्य व शीघ्र रिहाई के लिए सामूहिक जप, श्री आशारामायण का पाठ, आदि कार्यक्रम भी करते रहें ।
RSS
123